घर और ऑफ़िस में कैसे करें समय-प्रबंधन

 

यह दौर बराबरी का है. और इसका सबसे सटीक उदाहरण है की अब शादीशुदा कामकाजी महिलाओं का प्रतिशत दिन-ब-दिन बढ़ता जा रहा है.

वजह साफ है की अब ज़िंदगी की गाड़ी को चलाने के लिए दोनों पहियों का बराबरी से चलना बहुत ज़रूरी है. लेकिन अब भी कई ऐसे काम है, जैसे रोज़ के खाने-नाश्ते में बनने वाले व्यंजन से लेकर दूध-बिजली और टीवी-केबल जैसे हर छोटी-मोटी चीज़ों तक की फ़ेहरिस्त सिर्फ महिलाओं के हिस्से में आती है. ऐसे में हर महिला के मन का ये अनकहा ख्याल होता है की काश! थोड़ा और समय मिल पाता। चूँकि हम एक दिन में 24 घंटे में एक पल भी और नहीं बढ़ा सकते इसीलिए इन्हीं घंटों को इस तरह से काम में लाना है की आपके घर और ऑफिस दोनों में बेहतर तालमेल बना रह सके. इसके लिए कुछ यूं करें

 

1) सुबह जल्दी उठें।

सुबह जल्दी उठना सिर्फ समय प्रबंधन के लिए ही नहीं बल्कि अच्छी सेहत के लिए भी ज़रूरी है। इससे आपको ऊर्जा के साथ-साथ सकारात्मकता तो मिलेगी ही और कुछ अतिरिक्त समय भी मिलेगा जिससे आपके सुबह के काम सजहता से पूरे होंगे।

 

2) कामों की वरीयता सुनिश्चित करें।

तय करें की कौन से काम पहले करने है और किस काम में कितना समय खपत होगा। जिससे आपको कभी भी हड़बड़ी का सामना नहीं करना पड़ेगा। 

 

3) खाने की सूची पहले ही तय करलें।

सुबह के नाश्ते में बनने वाली चीजों से लेकर दोपहर और रात का खाने में बनने वाले व्यंजनों के बारे में पहले से ही सोच ले. हो सके तो उससे लगने वाली सामग्री की तैयारी रात में ही करले. इससे आपका समय बचेगा।

 

4) ज़रूरी काम कल पर न छोड़े।

‘काल करे सो आज कर’ की तर्ज पर अपने किसी भी काम को आलस की वजह से ना टालें। काम टालने से आपकी टू-डू बढ़ती जाएगी और साथ ही साथ इन अधूरे कामों से आपका तनाव भी बढ़ेगा.

 

5) रात में जल्दी और सुकून से सोयें.

इतनी भागदौड़ भरी ज़िन्दगी में सुकून की नींद सोना बहुत ज़रूरी है. क्योंकि नींद की कमी आपके तनाव को बढ़ाएगी, और तनाव आपके जीवन और आपकी सेहत दोनों के लिए ही खतरनाक साबित होगा. किसी भी तरह की फ़िक्र को दिमाग़ से निकाल कर शांत मन से सोयें। 

 

6) अपने फ़ोन को अपना हथियार बनाएं।

दूसरों के लिए मोबाइल फ़ोन भले ही बुरी लत हो. लेकिन आपके लिए यह एक बड़ी मदद साबित हो सकती है. सुबह उठने ले लेकर समय पर दवाई लेने जैसी  हर चीज़ के लिए आप फ़ोन में अलार्म सेट कर सकती हैं. अपने काम के लिए फ़ोन में शेड्यूल बनायें जिससे सही समय पर काम याद भी रहे और उन्हें ख़त्म करने में कोई दिक्क्त भी ना हों. बहुत सारे कामों के लिए आप अपने फ़ोन में ऑनलाइन मदद ले सकती है.

 

7) अपने ऑफिस और पड़ोस में दोस्त बनाएं <\h3>

ऑफिस और पड़ोस में आपका कोई ऐसा दोस्त होना बहुत ज़रूरी है जो किसी भी पेचीदा मसले में आपकी मदद कर सके. कभी अनजाने में आपके घर पर कोई मुश्किल हालात खड़े हो जाये और आपको दफ़्तर से घर पहुंचने में लगने वाले समय के बीच में आपके यही पड़ोसी दोस्त आपको सही जानकारी भी देंगे और ढाँढस भी बांधेंगे। आपके ऑफिस के दोस्त आपकी गैर-मौजुदगी में आपके काम को कुछ हद तक तो संभाल ही लेंगे. 

 

वैसे महिलाएं जानी ही जाती है अपनी मल्टीटास्किंग एबिलिटी के लिए. फिर भी घर और ऑफिस के कामों को एक साथ मैनेज करना आसान नहीं है, लेकिन महिलाएं अपनी सूझ -बझ से इसे आसान बना सकती हैं.

ध्यान रहें की इन सब कामों में आप खुद के लिए थोड़ा समय निकालना न भूलें.

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.